200+ दिमाग तेज करनेवाली new hindi paheliyan with answer

200+ Latest Hindi Paheliya With Answer 


   अगर आपको भी मेरी तरह पहेलियां पढ़ने का, किससे पूछने का और जवाब देना का शौक है, तो आप बिल्कूल सही जगह पर आए हो ।

   इस लेख मे मैं आपके साथ 200+ Hindi Paheliyan with answer शेयर करने वाला हूँ ।


hindi paheliyan with answer

   जो कि मैं उम्मीद करता हूं कि आपको बेहत पसंद आये इन पहेलियां में से शायद से आप कुछ पहेलियां पहले ही जानते हों ।


   लेकीन आपने मेरी ये 200+ Hindi Paheliyan में से कुछ ऐसी भी पहेलियां भी होंगी जिन्हें आप पहले नही जानते हो ।

   तो चलिए देखते हैं कि आप इन 200+ Hindi paheliyan with answers में से कितनी पहली का सही-सही जवाब दे पाते हैं ।


   मुझे कमेंट कर के जरूर बताना की आपने कितनी पहेलियां का सही-सही जवाब दिया ।


200+ new hindi paheliyan with answer



काला मुँह लाल शरीर कागज को वह खाता, रोज शाम को पेट फाड़कर कोई उन्हें ले जाता ?


Ans:- लेटर बॉक्स 


पानी से निकला दरख्त एक पात नहीं पर डाल अनेक एक दरख्त की ठण्डी छाया नीचे एक बैठ न पाया 

Ans:-  फुहारा 

हरा चोर लाल मकान उसमें बैठा काला शैतान गर्मी में वह दीखता सर्दी में गायब हो जाता ?

Ans:- तरबूज 


आँखे दो हो जाए चार मेरे बिना कोट बेकार घुसा आँखो में मेरा धागा दरजी के घर से मैं भागा ?

Ans:- बटन


ऐसी कौन सी चीज है जिसके पास रिंग तो है लेकिन फन्ने के लिए ऊँगली हीं नहीं है ? 

Ans:- मोबाइल


कौन गली, कौन खेत, पहाड़ी खड़ा रहता हूँ, सीना तान मेरे से जग जगियारा सब मौसम मेरा एक समान 

Ans:- बिजली खम्भा


hindi paheliyan with answer

एक महल बीस कोठरी सब है फाटकदार खोले तो दरवाजा मिले ना राजा ,पहरेदार ?

Ans:- प्याज 

एक घोडा ऐसा जिसकी छः टाँगे दो सुम और तमाशा ऐसा देखा पीठ के ऊपर दुम ?

Ans:- तराजू 

बेशक न हो हाथ में हाथ जीता है वह आपके साथ ?

Ans:- परछाई 

आगे से गाँठ गठीला पीछे से वो टेढ़ा हाथ लगाए कहर खुदा का, बूझ पहेली मेरी ?

Ans:- बिच्छू

Hindi paheliyan with answer online

दो हवाई जहाज़ हैं, एक 600 कि मी प्रति घंटा की रफ़्तार से दिल्ली से लंदन जा रहा है, और दूसरा 500 कि मी प्रति घंटा की रफ़्तार से लंदन से दिल्ली जा रहा है, जब वो मिलेंगे तो कौन सा जहाज़ लंदन के करीब होगा ?

Ans:- वो जब मीलेंगे तो दोनो एक समान दुरी पर होंगे 

हाल पानी का देखकर बहुत ताज्जुब आए दरख्त में डूबा भरा, डालियाँ, चिड़ियाँ प्यासी जाए ?

Ans:- ओस 

काटते है फीसते हैं बाँटते हैं पर खाते नहीं ?

Ans:- ताशपत्ती 

चार हैं चिड़ियाँ चार हैं रंग चारों के बदरंग चारों जब बैठे साथ लगे एक ही रंग ?

Ans:- पान 

छूने में शीतल सूरत में लुभानी रात में मोती और दिन में पानी ?

Ans:- ओस

नहीं चाहिये इंजन मुझको नहीं चाहिये खाना ,मुझ पर चढ़कर आसपास का कर लो सफर सुहाना ?

Ans:- साईकिल 

एक पेड़ की तीस हैं डाली आधी सफेद और आधी काली ?

Ans:- महीना 

तीन अक्षर का मेरा नाम आता हूँ खाने के काम मध्य कटे तो बन जाऊँ चाल मेरा नाम सदा तत्काल ?

Ans:- चावल 

पहले थी मैं भोली-भाली तब सहती थी मार अब पहनी मैंने लाल चुनरियाँ अब न सहूँगी मार ?

Ans:- मिट्टी का घड़ा 

पेट में अंगुली सिर पर पत्थर जल्दी से बताओ उसका उत्तर ?

Ans:- अँगुठी 

जीभ नहीं पर फिर भी बोले बिना पाँव सारा जग डोले राजा, रंक सभी को भाता जब आता तब खुशियाँ लाता ?

Ans:- रुपया 

Tough Hindi paheliyan with answer

दो बेटे और दो बाप सर्कस देखने गए, उनके पास केवल 3 टिकट थी फिर भी सबने सर्कस देखी, कैसे ?

Ans:- क्युंकि वो तीन ही थे दादा, पिता और पोता

छोटे से हैं मटकूदास कपड़ा पहने सौ पचास ?

Ans:- प्याज 

बिना कान के सुनने वाला नीचे गोरा ऊपर काला ?

Ans:- साँप 

सर के नीचे दबी रहे लेकिन चू तक न करती है बच्चों बोलो कौन है वो जो साथ तुम्हारे सोती वो

Ans:- तकिया

सात गाँठ की रस्सी गाँठ-गाँठ में रस इसका उत्तर जो बताये नाकु भैया देंगे रुपए दस ?

Ans:- जलेबी 

न देखे न बोले फिर भी भेद खोले ?

Ans:- पत्र 

एक कुंए में 9 मेंढक थे। एक मेंढक मर गया तो बताओ अब कुंए में कितने मेंढक हैं ?

Ans:- 9 क्युंकि मरा हुआ मेंढक भी तो कुएँ के अन्दर ही है

न कभी आता है न कभी यह जाता है इसके भरोसे जो रहे हमेशा पछताता है ? 

Ans:- कल

गोल-गोल चेहरा पेट से रिश्ता गहरा ?

Ans:- रोटी

मुझे सुनाती सबकी नानी प्रथम कटे तो होती हानि बच्चे भूलते खाना पानी एक था राजा एक थी रानी ?

Ans:- कहानी

एक ऐसा फूल बताये जिसमे रंग न खुशबू पाये ?

Ans:- अप्रैल फूल

Dimagi paheliyan in hindi with answer

आगे घेरा पीछे घेरा बीच में है चैन-चकेरा गाँव में भी जाती है सबको मंजिल तक पहुँचाती है ?

Ans:- साईकिल

ऐसा कौन सा अपराध है जिसे करने की कोशिश की जाये तो उसकी सज़ा है पर अगर कर लिया जाये तो कोई सज़ा नहीं?

Ans:- आत्महत्या 

धक-धक मैं हूँ करती फक-फक धुँआ फेंकती बच्चे बूढ़े मुझ पर चढ़ते निशानों पर मैं दौड़ती ?

Ans:- रेलगाड़ी

खड़ा द्वार पर ऐसा घोडा जिसने चाहा पेट मरोड़ा ?

Ans:- ताला

एक लड़का एक लड़की, ना वो पति-पत्नी, ना वो भाई बहन, ना वो माँ बेटा, लड़की का ससुर लड़के के ससुर का बाप है तो लड़के और लड़की का क्या रिश्ता है ?

Ans:- सास और दमाद का

ये धनुष है सबको भाता मगर लड़ने के काम न आता ?

Ans:- इन्द्र्धनुश

जरा-सी बिटिया गजभर की चुटिया ?

Ans:- सुई धागा

बारह घोड़े, 30 गाड़ी 365 दिन करें सवारी ?

Ans:- साल , महीने , दिन 

अजब सुनी इक बात नीचे फल और ऊपर पात ?

Ans:- अनानास

रात में है पर दिन में नहीं चतुर में है पर चालाक में नहीं स्वर में है पर व्यजंन में नहीं ?

Ans:- अक्षर 'र '

हवालात में बन्द पड़ी हूँ फिर भी बाहर पाओगे बिना पैर के सैर करुँ मैं बिन मेरे मर जाओगे ?

Ans:- हवा

Hindi paheliyan with answers 

एक पहेली मैं कहूँ तू सुन ले मेरे मित्र बिन पंखों के उड़ गयी वह बाँध गले में सूत ?

Ans:- पतंग

काला है पर कौआ नहीं बेढब है पर हौवा नहीं करे नाक से सारा काम अब बतलाओ उसका नाम ?

Ans:- हाथी

जंगल में मायका गाँव में ससुराल गाँव आई दुल्हन उठ चला बवाल ?

Ans:- झाड़ू

ऐसा क्या है जिसे हम छू नहीं सकते पर देख सकते हैं ?

Ans:- स्वप्न (सपना)

3 लीटर और 5 लीटर एक दूधवाले के पास 3 लीटर और 5 लीटर के ही बर्तन हैं और अगर उसे केवल 1 लीटर दूध अलग से निकालना हो तो वो क्या करेगा ?

Ans:- 3 लिटर वाले बर्तन से 5 लिटर वाले बर्तन मे दो बार दुध डालने की कोसिस करो तो दुसरी बार 1 लिटर दुध बच जायेगा 

हरी डिब्बी पीला मकान उसमें बैठे कल्लू राम ?

Ans:- पपीता और बीज

दिन में मरा, रात को जिया अब तो बूझो हूँ मैं क्या ?

Ans:- दीपक

एक बार आता जीवन में नहीं दोबारा आता जो मुझको  
पहचान न पाता, आजीवन पछताता ?

Ans: अवसर

आज हूँ तो कल नहीं कल वाली नहीं परसों फिर आऊंगी बाद महीना बाट न देखें बरसों ?

Ans:- तारीख/तिथि

वो क्या है जो हमेशा बढ़ती है मगर कभी कम नहीं होती ?

Answer: आपकी उम्र

Hindi paheli hindi with answer

आँख है पर अंधी हूँ पैर है पर लंगडि हूँ मुह है पर मौन हूँ बतलवो तो मै कौन हूँ?

Ans:- गुडिया

दो अक्षर का मेरा नाम हरदम रहता मुझे जूखाम कागज है मेरा रुमाल भईया मेरा क्या है नाम?

Ans:- पेन 

हरा आटा लाल परठा मिल जुल्कर सब सखियो ने बटा ?

Ans:- मेहँदी 



ऐसी कौन सी चीज़ है जो पंख से भी हलकी है पर फिर भी कोई भी इंसान इसे एक मिनट से ज्यादा नहीं पकड़ कर रख सकता है ?

Ans:- साँस 

वो क्या है जो दो लोगों को बाँधता है पर छूता सिर्फ एक को है ?

Ans:- शादी की अंगूठी

वो कौन सा काम है जो 1 आदमी अपनी पूरी ज़िंदगी में 1 बार करता है, पर वही काम 1 औरत रोज़ करती है, बताओ क्या ?

Ans:- मांग भरना

कभी बड़ा हो कभी हो छोटा, माह में एक दिन मारे गोता बताओ क्या ? 

Ans:- चाँद

वो क्या है जो हमेशा बढ़ती है मगर कभी कम नहीं होती ?

Ans:- आपकी उम्र

ऐसी कौन सी चीज़ है जो धूप में आने पर जलने लगती है और छाँव में आने पर मुरझा जाती है, और हवा चलने पर मर जाती है ?

Ans:- पसीना

ऐसा क्या है जो हमेशा आता तो है पर पहुँचता कभी नहीं ?

Ans:- कल (आने वाला)

ऐसा क्या है जो जितने आगे तुम बढ़ाओगे, उतने ही तुम पीछे छोड़ जाओगे ?

Ans:- कदम

वो क्या है जो जितना ज्यादा बढ़ेगा उतना कम देख पवोगे ?

Ans:- अँधेरा

ऐसी कौन सी चीज़ है जो अधिक ठंड में भी पिघलती है ?

Ans:- मोमबत्ती

वो कौन सी चीज़ है जिसे ज़मीन पर फेंको तो नहीं टूटती पर पानी में फेंको तो टूट जाती है ?

Ans:- परछाई

एक गुफा के बतीस चोर, बतीस रहते तीनो ओर.
दिन में यह करते अपना काम, रात को करते हैं आराम.
बताओ क्या ?

Ans:- दाँत

वो क्या जिसमे बहुत सारे छेद हैं फिर भी पानी को रोक लेता है ?

Ans:- स्पंज

चार कोनों का नगर बना, चार कुँए बिन पानी, चोर 18 उसमे बैठे लिए एक रानी, आया एक दरोगा, सब को पीट-पीट कर कुँए में डाला, बताओ क्या ?

Ans:- कैरम बोर्ड

वो क्या जिसमे 4 उँगलियाँ और एक अंगूठा है, पर उसमे जान नहीं है ?

Ans:- दस्ताना

वो क्या है जो है तो एक कटोरे जितनी पर फिर भी पूरे समंदर का पानी भी उसे भर नहीं सकता ?

Ans:- छलनी

ऐसा कौन सा कागज़ है जो है तो आपका लेकिन अगर उस पर आपके हस्ताक्षर हों तो वो अमाननीय हो जायेगा ?

Ans:- नोट

वो क्या है जिसमे कुछ भी नहीं है फिर भी आप उसमे देख सकते हो ?

Ans:- छेद

क्रोध से सब को दुःख देते हैं प्यार से सब को सुख देते हैं सच भी हम हैं, झूठ भी हम हैं बताओ तो हम क्या हैं ?

Ans:- शब्द

वो क्या है जिसका चेहरा है, दो हाथ हैं, मगर टाँगे नहीं हैं ?

Ans:- घडी

वो क्या है जो सिर्फ कहने भर से टूट जाती है ?

Ans:- ख़ामोशी

वो क्या है जो सदियों पुराना है लेकिन फिर भी हर महीने नया है ?

Ans:- चाँद

बताओ वो कौन सी सब्ज़ी है जिस में ताला और चाबी दोनों आते हैं ?

Ans:- लौकी (Lock - Key)

श्रीनगर से चली, कानपुर में पकड़ी गई दिल्ली में मुकदमा हुआ नाखुनपुर में मारी गई बताओ क्या ?

Ans:- जुआ

हरे रंग की चीज़ निराली, पी बैठी जब पानी.
सूख गयी तब क्या कहने, छोड़ी लाल निशानी ?

Ans:- मेंहदी

मध्य कटे तो बनता कम, अंत कटे तो कल.
लेखन में मैं आती काम, सोचो तो क्या मेरा नाम ?

Ans:- कलम

भूरा बदन, रेखाएं तीन दाना खाती हाथ से बीन 
बताओ क्या ?

Ans:- गिलहरी

रात में है, दिन में नहीं दिये के नीचे ऊपर नहीं 
बूझो मेरा नाम सही ?

Ans:- अँधेरा

वह कौन सी चीज़ है जो सारा कमरा तो भर देता है पर जगह बिलकुल नहीं लेता ?

Ans:- प्रकाश

आना जाना उसको भाए जिस घर जाए टुकड़े कर आए ?

Ans:- आरी

लाल संत्री रंग है मेरा आती हूँ मैं खाने के काम सिर पर रहती हरियल चोटी जल्दी बताओ मेरा नाम ?

Ans:- गाजर

साथ-साथ मैं जाती हूँ, हाथ नहीं मैं आती हूँ ?

Ans:- अंगूठी

पढ़ने में, लिखने में दोनों में ही मैं आता काम कलम नहीं कागज़ नहीं, बताओ क्या है मेरा नाम ?

Ans:- चश्मा

ऐसा कौन सा फल है जो कच्चे में मीठा लगता है और पकने के बाद खट्टा या कड़वा लगता है ?

Ans:- अनन्नास

कागज़ का घोडा, धागे की लगाम, धागा टूट जाए तो घोडा करे सलाम ?

Ans:- पतंग

ऐसी कौन सी जगह है जहाँ पर सड़क है पर गाड़ी नहीं जंगल है पर पेड़ नहीं और शहर हैं पर घर नहीं ?

Ans:- नक्शा

ऊँट की बैठक, हिरन की चाल. एक ऐसा जीव जिसके न दुम न बाल ?

Ans:- मेंढक

आपके ही घर ये आये, तीन अक्षर का नाम बताए. शुरु के दो अति हो जाये, अंतिम दो से तिथि बताये ?

Ans:- अतिथि 

एक रुमाल के 4 कोने है उनमें से 2 को कैंची से काट दिया जाये तो कितने कोने बचेंगे ?

Ans:- 6

हरी हरी मछली के हरे अरे अंडे जल्दी बूझो पहेली वार्ना पड़ेंगे डंडे ?

Ans:- मटर की फली 

कोने में चिपका रहता करता पर दुनिया की सैर सबको मैं सन्देश दिलाता जबकि मेरे हाथ ना पैर ?

Ans:- पोस्ट स्टाम्प

बिना तीर के धनुष उठाऊ सत रंगी छटा बिखराऊँ उचा बहुत है मेरा घर नाम बताओ सोच कर ?

Ans:- इन्द्रधनुष

अंग्रेजी में ज्यादा होता है हिंदी में है पक्षी सावन में ये पंख पसारे बूझो एक पहेली अच्छी ?

Ans:- मोर

गर्मी में जिससे घबराते जाड़े में हम उसको खाते उससे है हर चीज चमकती दुनिया भी है खूब दमकती ?

Ans:- धूप

जो जाकर न वापस आये जाता भी वह नजर न आये सारे जग में उसकी चर्चा वह तो अति बलवान कहाये ? 

Ans:- समय

न किसी से झगडा न लड़ाई, फिर भी होती सदा पिटाई ?

Ans:- ढोल

प्यार करूँ तो घर चमका दूँ वार करूँ तो ले लूँ जान जंगल में मंगल कर दूँ कभी कर दूँ मैं शहर वीरान ?

Ans:- बिजली

वो क्या है जिसे इस्तेमाल करने से पहले तोडना पड़ता है ?

Ans:- अंडा

काला घोडा सफेद सवारी एक उतरे दुसरे की बारी ?

Ans:- तवा-रोटी

सुबह-सुबह ही आता हूँ दुनिया की खबर सुनाता हूँ बिन मेरे उदास हो जाते, सबका प्यारा रहता हूँ ?

Ans:- अख़बार

चार अक्षर का मेरा नाम टिमटिम तारे बनाना काम शादी उत्सव या त्योहार, सब जलाएँ बार-बार ?

Ans:- फुलझड़ी

सीधी होकर वह बहती है, उल्टी होकर वाह-वाह कहती है ?

Ans:- हवा

दुनिया भर की करता सैर, धरती पर ना रखता पैर, दिन मे सोता रात मे जगता, रात अँधेरी मेरे बगैर, अब बताओ मेरा नाम ?

Ans:- चाँद

लाल घोडा रुका रहे, काला घोडा भागत जाये बताओ कौन ?

Ans:- आग और धुँआ

अगर नाक पे चढ़ जाऊ, कान पकड़ के तुम्हे पढ़ाउ बताओ क्या ?

Ans:- चश्मा (ऐनक)

एक राजा की अनोखी रानी, दुम के सहारे पीती पानी बताओ जरा ?

दीया (दीपक)

एक फूल काले रंग का, सर पर हमेशा सुहाये तेज धूप में खिल-खिल जाये पर छाया में मुरझाये ?

Ans:- छाता (छतरी)

बनाने वाला उसका उपयोग नही करता, उपयोग करने वाला उसे देखता नही, देखने वाला उसे पसंद नही करता ?

Ans:- कफ़न (कब्र)

पढ़ने में लिखने में दोनों में ही मैं आता काम, पेन नहीं पेन्सिल नही कागज नहीं बूझो मेरा नाम ?

Ans:- चश्मा

एक थाल मोतियों से भरा, सबके सिर पर उल्टा धरा चारो ओर फिरे वो थाल, मोती उससे एक ना गिरे ?

Ans:- आसमान

छोटी सी छोकरी ,लालबाई है नाम, पहने है घाघरा, एक पैसा है दाम ?

Ans:- लाल मिर्च

ऊपर से नीचे बहता हूँ, हर बर्तन को अपनाता हूँ, देखो मुझको गिरा न देना वरना कठिन हो जाएगा भरना ?

Ans:- द्रव्य

एक तालाब रस भरा, बेल पड़ी लहराए, फूल खिला बेल पर, फूल बेल को खाए ?

Ans:- चिराग़/दिया

मै हू एक पवित्र धाम, तीन अक्षर का मेरा नाम, प्रथम कटे तो दुख हो जाऊ, अन्त कटे तो साथ मै जाऊ ?

Ans:- सन्गम

प्रथम कटे मर जाऊ, पानी सदा पेट मे लाऊ, अन्त कटे मै गिला करू, बर्तनो मै मिला करू ?

Ans:- गिलास

प्रथम कटे टाई बन जाए, कोई न उसको गले लगाए, बिछने के आती वो काम, जल्द बताओ उसका नाम ?

Ans:- चटाई

बन मे दिखती हे वो छेली, उसके पेट मे लटके थेली, बच्चे को थेली मे छिपाए, वन मे लम्बी कूद लगाए ?

Ans:- कन्गारू

दो अक्षर का शब्द हे एक, नाम एक हे किस्म अनेक, नर नारी सबके मन भावे, खाने वाला नीच कहावे ?

Ans:- जूता

बिन पानी रूप न ले, पानी से गल जाय, आग लगाकर फूक दे, अजर अमर हो जाय ?

Ans:- ईट

हाड नही मास नही, अगुलिया हे मेरी, ओ ग्यानी झ्ट नाम बता, परखू अक्कल तेरी ?

Ans:- दस्ताना

बिजली खाऊ बटन दबवाऊ, यन्त्रो का हू नेता, काज गणित या लेखन का, पल मै सब कर देता ?

Ans:- कम्पयूटर

राजा ने एक भवन बनवाया, ताल नही पर नाम कहाया जो कोई उस भवन मै जाए, पडा रहे ओर रोग भगाए ?

Ans:- अस्पताल

लंबा तन और बदन है गोल, मीठे रहते मेरे बोल, तन पे मेरे होते छेद, भाषा का मैं करूँ ना भेद ?

Ans:- बांसुरी

मुह काला पर काम बडा, कद छोटा पर नाम बडा, मेरे वश मे दुनिया सारी, रहू जेब मे सस्ती प्यारी ?

Ans:- कलम

काली हे पर काग नही, लम्बी हे पर नाग नही, बलखाती पर डोर नही, बन्धती हे पर ढोर नही ?

Ans:- चीटी

जो आगे आये वह काट गिराऊ, बिना काटे मे चेन न पाऊ, फिर भी तुम मुझको चमकाते, सुबह शाम हरदम नहलाते ?

Ans:- दात

पानी का है मेरा चोला, हू सफेद पानी का गोला, जमा यदि मुझे रख पाऑगे, बुला-बुला कर थक जाऑगे???

Ans:- बुलबुला

लगती, खुलती और मे, होती हू दो चार, मै न रहू तो जग मै, सब लगने लगे बेकार ?

Ans:- आँख

मैं सब के पास हूँ पर फिर भी कोई मुझे खो नहीं सकता।
मैं क्या हूँ ?

Ans:- परछाई

लोहा खींचू ऐसी ताकत है, पर रबड़ मुझे हराता है, खोई सूई मैं पा लेता हूँ, मेरा खेल निराला है, बताओ मैं क्या हूँ?

Ans:- चुंबक

काली-काली एक चुनरिया, जगमग-जगमग मोती, आ सजती धरती के ऊपर, जब सारी दुनिया सोती।
बताओ क्या ?

Ans:- रात्रि का आकाश

तीन अक्षर का मेरा नाम ,मेरी है सीमा अपार, मुझपे चलते वाहन अनेक ,जल का हूँ मैं भंडार बताओ क्या ?

Ans:- सागर

जब ये जलते हैं, तो रोते हैं, सब इन्हें जलाकर खुश होते हैं ?

Ans:- पटाके

एक ऐसा शब्द बतायें जिससे फूल फल और मिठाई बन जाये ?

Ans:- गुलाबजामुन

सफेद मुर्गी ,हरी पूंछ तुझे न आए तो काले से पूछ
बताओ ?

Ans:- मूली

पूंछ कटे तो सीता, सिर कटे तो मित्र, मध्य कटे तो खोपड़ी, बतावो क्या ?

Ans:- सियार

दो सुंदर लड़के, दोनों एक रंग के, एक बिछड़ जाये तो दूसरा काम न आये ?

Ans:- जुता

शीशा भी हूँ पर कांच नहीं, बर्तनाकार लेता हूँ पर बर्तन नहीं हूँ, जीवनदान देता हूँ , पर भगवान् नहीं हूँ ।

Ans:- पानी

आगे जाती पीछे आती, लकड़ी चाटे - लोहा खाती ?

Ans:- आरी

एक चीज़ का सस्ता रेट, लम्बी गर्दन मोटा पेट पहले खुद का पेट भराए, फिर सबकी प्यास बुझाए ?

Ans:- सुराही

हरी पेटी में रहती, भरे पेट में है मोती, जो भी मुझे खाए , मुहं महक जाए ?

Ans:- इलायची

पहले मैं कोयला खाता था, फिर पीता था डीजल, अब बिजली का सेवन करता, जाने क्या होगा कल ?

Ans:- रेल इंजन

तप करता तपस्वी नहीं, हलधर का बलराम, माटी से चाँदी करे ज्ञानी खोलो नाम ?

Ans:- किसान

हरा घेरा पीला मकान, उसमें रहते काले इंसान ?

Ans:- पपीता

कश्मीर निवासी फल मजेदार, खाए मुझे वह नहीं पड़े बीमार ?

Ans:- सेव

एक बार भोजन कर लो, तुमको खूब खिलाऊं, अगर दुबारा मुझको चाहो, नहीं काम मैं आऊं ?

Ans:- पत्तल

खाली पेट बड़ी मस्तानी, लोग कहे पानी की रानी ?

Ans:- नाव

जितनी ज्यादा सेवा करता,उतना घटता जाता हूँ, सभी रंग का नीला पीला, पानी के संग भाता हूँ, बताओ क्या ?

Ans:- साबुन

एक जानवर रंग रंगीला, बिना मारे वह रोवे, उस के सिर पर तीन तिलाके, बिन बताए सोवे ?

Ans:- मोर

काली है पर काग नहीं, लम्बी है पर नाग नहीं, बल खाती है ढोर नहीं, बांधते है पर डोर नहीं ?

Ans:- चोटी

खाते नहीं चबाते लोग, काठ में कड़वा रस संयोग, दांत जीभ की करे सफाई बोलो बात समझ में आई ?

Ans:- दांतुन

हरा हूँ पर पत्ता नहीं, नकलची हूँ पर बन्दर नहीं, बूझो तो मेरा नाम सही ?

Ans:- तोता

ऊपर से गिरा बम, उसमे हड्डी न दम ?

Ans:- ओला

गोल हूँ पर गेंद नहीं , लाल हूँ पर सेब नहीं, जो भी मुझको खाते, मेरी गंध सदा फैलाते ?

Ans:- प्याज

छोटे से मियाँ जी दाढ़ी सौ गज की ?

Ans:- भुट्टा

साँपों से भरी एक पिटारी, सब के मुँह में एक चिंगारी, जोड़ो हाथ तो निकले घर से, फिर घर पे सिर पटक दे ?

Ans:- माचिस

हाल-चाल यदि पूछो उससे, नहीं करेगा बात सीधा सादा लगता है, पर पेट में रखता दांत ?

Ans:- अनार

एक नगरी में चौंसठ घ्रर, दो पास बैठें भर चाव, उस नगरी का यही स्वभव, क्टे-मरें लगे न घाव ?

Ans:- शतरंज

निज आँसुओं पर खडी रहे जो, सिर पर आग जलाए, रोशनी हमको देती वह, पर आँसू खूब बहाए ?

Ans:- मोमबत्ती

कागज पर मैं सरपट भागूँ, चल कर थोडा सा गिर जाऊँ, गर्दन जरा काट दो मेरी, तो उठ कर फिर दौड लगाऊँ ?

Ans:- पेन्सिल

सोचो और दिमाग लगाओ ऍसा एक अनाज बताओ, जिसके नाम का तीर्थ कहाए, दुनिया भर में जाना जाए ?

Ans:- मक्का

तीन पंख का ऍसा पक्षी सबके घ्रर में रहता, वर्षा और सर्दी में सोता, बस गर्मी में उडता ?

Ans:- पंखा

काला हूँ मतवाला हूँ और मधुर रस वाला हूँ, तीन वर्ण का नाम बना, मध्य हटा तो जान बना ?

Ans:- जामुन

मेरे बिन संसार में, मानव ठोकर खाता, जिस मानव के पास मैं, चैन करत दिन-रात ?

Ans:- बुद्धि

ऊपर से मै पिला-पिला, अन्दर से है भरा-भरा छिलके दूर हटा लो जी, बीज नहीं है खा लो जी ?

Ans:- केला

एक अनोखी ऍसी चीज, उजली धरती काला बीज, जो है इससे करते प्यार, वे बन जाते होशियार ?

Ans:- पुस्तक

दो अक्षर का मेरा नाम, आता हूँ खाने के काम, बात कहूँ में बिल्कुल साँच, मुझे उल्टा कर देखो नाच ?

Abs:- चना

एक टाँग से खडा हुआ हूँ एक जगह पर अडा हुआ हूँ, भारी छाता मैंने है ताना, सब जीवों को देता हूँ खाना ?

Ans:- पेड

एक टाँग पर खडी रहूँ मैं, एक जगह पर अडी रहूँ मैं, अंधियारे को दूर भगाऊँ, धीरे-धीरे गलती जाऊँ ?

Ans:- मोमबत्ती

देखी ऍसी नार चतुरंगी, घर के बाहर निकले नंगी, जा कोई वाके धार को चाखे, वो जीवन की आस ना राखे ?

Ans:- तलवार

जिन्हें लोमडी खा न सकी थी, लाख पची पर पा न सकी थी, लटक रहे बन सभी इकट्ठे, चली गई वह कहकर खट्टे ?

Ans:- अँगुर

ढाई अक्षर का मेरा नाम, आती हूँ भोजन के काम, आदि कटे होती देर, अंत कटे तो बनता खेल ?

Ans:- प्लेट

अक्षर है केवल तीन प्रथम कटे पूजा में लीन, मध्य कटे तो कान, अन्त कटे तो काली देखा, अक्षर है केवल तीन ?

Ans:- कालीन

एक पक्षी ऍसा देखा, ताल किनारे रहता था, मुँह से आग उगलता था, दुम से द्र्व को पीता था ?

Ans:- दीपक

ढ़ाई अक्षर का मेरा नाम, उल्टी-सीधा एक समान, ज्योति जगाना मेरा काम, करूं प्रभा अनुपम अभिराम ?

Ans:- बल्ब

अगल बगल घास फूस, बीच में तबेला, दिन भर तो भीड भाड, रात में अकेला ?

Ans:- पनघट

देने से घटती नहीं, करिए जी भर दान, छीने से छिनती नहीं, देते बढ़ता मान ?

Ans:- ज्ञान

सिर छोटा और पेट बडा, तीन टाँग पर रहे खडा, खाता हवा और पी्ता तेल, फिर दिखलाता अपना खेल ?

Ans:- स्टोव

काली काली माँ, लाल लाल बच्चे, जिधर जाए माँ, उधर भागे बच्चे ?

Ans:- रेलगाड़ी

तन में है काला पानी, कलम कहे मुझको नानी, प्रथम कटे बनती वायु, अंत कटे तो रोग भगाऊँ ?

Ans:- दवात

एक गाँव में बाँस गडा है, एक गाँव में कुआँ, एक गाँव में आग लगी है, एक गाँव में धुआँ ?

Ans:- हुक्का

बसे लम्बी गर्दन-टाँगे, इसमें तनिक न झूठ, खाता पेडों के पत्ते पर, समझ न लेना ऊँट ?

Ans:- जिराफ

ऍसा एक अनोखा पक्षी, उसके न हाड न माँस, हजार मील वो उडता जाए, कभी नहीं वो लेता साँस ?

Ans:- हवाई जहाज

आदि कटा कर टोरा खाए, मध्य कटा फिर करा करे, अन्त कटे तो कटो भले ही, दूध पिला कर पेट भरे ?

Ans:- कटोरा

पैर नहीं है उसके लेकिन, दूर-दूर तक जाता, कभी हंसाता कभी रूलाता, लेकिन बोल न पाता ?

Ans:- पत्र

राजा ने एक भवन बनवाया ताल नही, पर नाम कहाया, जो कोई उस भवन मै जाए, पडा रहे ओर रोग भगाए ?

Ans:- अस्पताल

भैस वह पाले ना भैस या गाय, फिर भी दुध मलाई खाए, घर बैठे ही करे शिकार, गया शेर भी उससे हार ?

Ans:- बिल्ली

पहले सोलह से बनता था, अब बनता है सौ से, चला रहा व्यवसाय यहाँ पर, विगत कई वर्षो से ?

Ans:- रुपया

बरखा सर्दी धूप कडी हो पथ मे, पत्थर कील गडी हो, इन सबसे मे तुम्हे बचाऊ, फिर भी हर दिन रगडा जाऊ ?

Ans:- जुता

बेशक न हो हाथ मे हाथ, पर जीता है वो आप के साथ, बताओ क्या ?

Ans:- परछाई

सुबह, दोपहर, शाम को, मैं लोगों को भाती, सब्जी के संग मेल है, आदि कटे तो पाती ?

Ans:- चपाती

अंत कटे तो चाव बनूं, मध्य कटे तो चाल, तीन अक्षर का अन्न हूँ, खाओ मुझे उबाल ?

Ans:- चावल

लम्बी गर्दन, पीठ पर कूबड़, घड़ों पानी पी जाए, टीलों पर जो सरपट दौड़े, मरुथल जहाज़ कहाए ?

Ans:- उंट

सिर संग भी है नाता मेरा बिस्तर से भी नाता, बोझ उठा कर आपका मैं मीठी नींद सुलाता ?

Ans:- तकिया

देखी रात अनोखी वर्षा सारा खेत नहाया, पानी तो पूरा शुद्ध था पर पी न कोई पाया ?

Ans:- ओस

गोल-गोल हैं जिसकी आंखें, भाता नहीं उजाला, दिन में सोता रहता हरदम, रात विचरने वाला ?

Ans:- उल्लु

सरस्वती की सफ़ेद सवारी, मोती जिनको भाते, करते अलग दूध से पानी, बोलो कौन कहाते ?

Ans:- हंस

सर पर ताज, गले में थैला, उसका नाम बड़ा अलबेला ?

Ans:- मुर्गा

लोहे की है दो तलवारें खूब लड़ें पर साथ रहें ?

Ans:- कैंची

बिन बुलाये रात को आते हैं, बिन चुराए सुबह खो जाते हैं, क्या है वो ?

Ans:- तारे

मंदिर, मस्जिद, गिरजा, गुरुद्वारा, सभी जगह सम्मान यह पाए, पतली सी है काया जिसकी, जलती हुई महक फैलाए ?

Ans:- अगरबत्ती

अलग-अलग रहती हैं दोनों, नाम एक-सा प्यारा, एक महक फैलाए जग में, दूजी करे उजियारा ?

Ans:- धुप 


Hindi paheli Question With Answer


   तो दोस्तो कैसी लगी आपको यह 200+ Hindi Paheliyan With Answer मुझे कमेंट करके जरूर बताना ।

   और यह भी बताना की आपने कितनी पहेलियों का सही-सही जवाब दिया ।


   और नीचे के दो पहेलियों का जवाब भी जरूर देना देखते हैं कि आप इस पहली का सही जवाब दे पाते हैं या फिर नही मैं आपके जवाब का इंतिजार कर रहा हूं।

Hindi paheliyan questions and answer


(1) तुम्हारे भाई की भाबी की सास के भाई की बीवी की सास के पति के जमाई के पोते की माँ की ननद का भाई आपका कौन हुआ, बताओ ?

(2) एक लडके ने पूछा: मेरी माँ की माँ के पति के लड़के की लड़की, मेरी माँ की कौन हुई, बताओ ?

यह भी पढे

69+ New Hindi paheliyan with answer