33+ jasoosi hindi paheliyan | जिसे पढ्ने के बाद आपका दिमाग घूम जायेगा | with Answer


Jasoosi Hindi paheliyan with answer 

Jasoosi hindi paheliyan with answer

33+ जासूसी पहेलिया हिंदी मे जिसे पढ्ने के बाद आपका दिमाग तेज होजयेगा 


मनोज एक कमरे में फंस गया है, जिस से निकलने के लिए उसे 3 में से एक दरवाजा को चुनना है, पहले दरवाजे के पीछे हत्यारें है जो मनोज को तुरंत मार देंगे, दूसरे दरवाजे को खोलते ही 20 फीट आग की लपटें है, तीसरे दरवाजे के पीछे एक शेर है जो 2 साल से भूखा है, अब बताइए,मनोज को कौन-सा दरवाजा चुनना चाहिये ?

Ans:- मनोज को तीसरा दरवाजा चुनना चाहिये, क्योकि उसमे शेर है जो 2 साल से भूखा है तो जरा सोचिये, वो 2 साल से भूखा शेर क्या आज तक जिन्दा होगा ।

एक बार एक लड़की एक तैंतालीसवीं (43) मंज़िल की, खिड़की अंदर से साफ़ रही थी, और वो अचानाक खिड़की से कुद जाती है, बता दे कि वो किसी रस्सी से भी नहीं बंधी थी, बताओ वो कैसे बची ?

Ans:- लड़की खिड़की से बालकनी में कूदती है, जिससे वो खिड़की बाहर से भी साफ़ कर सके ।

एक सेब के पेड़ के नीचे 5 लोग बैठे थे, पहला गूंगा,दूसरा अँधा, तीसरा बहरा,चौथा दोनों हाथ से लाचार, और पांचवा दोनों पैरों से परेशान, बताइए, आम गिरेगा तो कौन सबसे पहले उठाएगा ?

Ans:- सेब के पेड़ से आम नहीं गिर सकता ।

सर्दियों के समय में अनुज एक बेहद ही ठन्डे कमरें में कैद हो गया, जहां से बाहर निकलने का कोई रास्ता नहीं था, लेकिन कमरें में अनुज को एक तेल की चिमनी, मोमबत्ती और लकड़ी का चूल्हा दिखा, इसी के साथ अनुज को एक मचिक की तिल्ली भी मिली, अब बताइए अनुज क्या चीज पहले जलाएगा ?

Ans:- मचिक की तिल्ली, क्योकि वो सबसे पहले तिल्ली जलाएगा उसके बाद कुछ और ।

एक बार एक आदमी पुलिस को कहता है, कि उसका सीक्रेट ब्लू प्रिंट चोरी हो गया है, जब वो रात में घर पर काम कर रहा था, अचानक लाइट चली गयी तो उसने कैंडल जलाई,और तभी अचानक दरवाजे की घंटी बजी तब उसने दरवाजा खोला, जब उसने वापस आकर देखा तो उसका ब्लू प्रिंट चोरी हो गया था, लेकिन पुलिस समझ चुकी है कि ये झूठ बोल रहा है, अब आपको ये बताना है कि पुलिस कैसे समझी कि ये झूठ बोल रहा है ?

Ans:- जब लाइट ही नहीं थी तो डोर बेल (Doorbell) बजने का तो कोई सवाल नहीं उठता ।

एक जलते हुए घर के पास 3 आदमी खड़ें थे, वहां से गुजरते हुए एक व्यक्ति ने उन्हें पीछे घसीट दिया, लेकिन फिर भी उस व्यक्ति को जेल हो गयी बताओ क्यों ?

Ans:- वह तीन व्यक्ति फायर ब्रिगेड के थे ।

एक बार संडे को बारिश में एक छोटे से शहर में एक्सीडेंट हो जाता है, जिसमे एक रेड मिनी बस एक लड़की को हिट कर देती है, पुलिस को मिनी बस के 3 मालिक मिलते है, पहला महेश-महेश ने कहा वो पेंट(Paint) कर रहा है और पेंट करना उसका शौक भी है, दूसरा तरुण-वो बताता है कि उसका दोस्त और वो दोनों वीडियो गेम खेल रहे थे, तीसरी टीना- टीना बताती है कि उस टाइम वो शॉपिंग कर रही थी, तो अब आपको बताना है इन तीनो में से कौन झूठ बोल रहा है ?

Ans:- महेश क्योकि जब बारिश हो रही थी तो वो कैसे पेंट कर रहा था ।

दो लड़कियाँ एक जंगल में फस  जाती है, एक लड़की मधुमखियों के बीच में, और दूसरी लड़की भालू के बीच में, क्या आप बता सकते है दोनों लड़कियों में से किसके बचने की संभावना ज्यादा है ?

Ans:- मधुमखियों के बीच वाली, अगर आप मधुमखियों से एलेरजिक है तो ही प्रॉब्लम हो सकती सकते है, क्योकि 1000 मधुमखियों का हमला नॉर्मल इंसान आराम से सह सकता है, लेकिन भालू से बचना थोड़ा मुश्किल होता है ।

एक टेररिस्ट हवाई जहाज को हाईजैक कर लेता है, हवाई जहाज और उसमे जो यात्रियों (पैसेंजर) है उन्हें सही सलामत छोड़ने के लिए, वो अपनी कुछ मांग रखता है, वो एक पैसों से भरा बैग और दो परशूट मागता है, और एकदम से जैसे ही उसे..नीचे एक रेगिस्तान दिखता है, वो एक परशूट, और पैसों का बैग लेकर कूद जाता है, अब आपको ये बताना है कि जब उसे एक ही परशूट की जरुरत थी, तो उसने दो परशूट क्यों मांगे होगे बताए ?

Ans:- टेररिस्ट चहाता था, कि एयर होस्टेस को लगे, की वो एक यात्री को, बंदी बनाकर लेके जाने वाला है, इससे वो उसको ख़राब पैराशूट नहीं देगी,और वो आसानी से भाग पाएगा ।

एक बार आप गाड़ी चला रहे होते है, और, अचानक से, आपकी गाड़ी के सामने सड़क पर दो लोग आ जाते है, इसमें से एक 70 साल का बुजुर्ग और दूसरा 5 साल का बच्चा, तो आप बताओ आप किसे मरोगे ।

Ans:- आपको तो ब्रेक मारनी है ना ।

एक घर में ABCDEFGH ऐसी  8 भाई रहते है, उसमे...,A – इस्त्री(IRON) कर रहा था, B - कपडे धो रहा था, C - शतरंज के खेल रहा था, D - नहा रहा था, E - खाना खा रहा था, F- पढ़ाई  कर रहा था, G- पेपर पढ़ रहा था।

प्रश्न : "H" क्या कर रहा होगा ?

Ans:- "H" C के साथ शतरंज खेल रहा था 

रोहन ने सोहन से पूँछा, कि बताओ तुम्हारी जेब में क्या है, सोहन ने जवाब दिया कि मेरी जेब में कुछ है भी, और मेरी जेब में कुछ नहीं भी है, बताओ यह कैसे हो सकता है ?

Ans:- अगर जेब में छेद हो तो 

एक शहर में 2 नाई हैएक के बाल एकदम, हीरो जैसे सेट है और दूसरे के बाल एकदम बेकार सेट है, तो आप किसके पास बाल कटाने जाओगे ?

Ans:- शहर में सिर्फ 2 ही नाई है, इसलिये वो दोनों एक-दूसरे के बाल काटते होगे, तो दूसरे के बाल एकदम बेकार सेट है आपको उसके पास जाना चाहिये, क्योंकि पहले वाले नाई ने उसके बाल सही से नहीं काटे ।

एक बुजुर्ग ट्रेन में चढ़ा,उसे जगह नहीं मिली, किंतु एक छोटी-सी बच्ची ने उनको अपनी सीट दे दी, 

बुजुर्ग–धन्यवाद बेटी, बेटी क्या नाम है तुम्हारा?

बच्ची – हिन्दी में बताऊ या मैथ्स में बताऊ, बुजुर्ग (उत्सुकता से)–चलो मैथ्स में बताओ 

बच्ची – “तीन माईनस ग्यारह दो ग्यारह”

Ans:- आशा 3-11 211 (इससे इंग्लिश में अक्षर बताओ)

एक बार संख्या 9 ने 8 को थप्पड़ मारा, 8 रोने लगा... पूछा मुझे क्यों मारा, 9 बोला मैं बड़ा हूँ इसलिए मारा, सुनते ही 8 ने 7 को मारा और 9 वाली बात दोहरा दी, 7 ने 6 को..,6 ने 5 को..,5 ने 4 को..,4 ने 3 को.., 3 ने 2 को..,2 ने 1 को..,अब 1 किसको मारे
1 के निचे तो 0 था ? 

Ans:- 1 ने उसे मारा नहीं, बल्कि प्यार से उठाया और उसे अपनी बगल में, बैठा लिया जैसे ही बैठाया, उसकी ताक़त 10 हो गयी, और 9  की हालत खराब हो गयी ।

चार बच्चे तालाब में पत्थर फेंक रहे हैं. उनका लक्ष्य यह है उनका पत्थर तालाब के बीच चट्टान पर टकराना चाहिए. हर एक को पांच पत्थर दिए गये, पहले बच्चे के 3 पत्थर चट्टान से टकराये और एक पत्थर पानी में चला गया, तीसरे बच्चे से एक भी पत्थर चट्टान से नहीं लगा, चौथे से 2 पत्थर चट्टान पर लगे और बाकी सभी पानी में गए, दूसरे बच्चे के सारे पत्थर सही लगे, लेकिन किसी ने उसे पत्थर मार कर लहूलुहान कर दिया, इंस्पेक्टर राघव ने पता कर लिया कि किसने पत्थर मारा था. क्या आप पता कर पाएंगे?", "

Ans:- पहेल बच्चे ने, अगर आप स्कोर देखेंगे तो आप जान जायेंगे की पहले बच्चे ने सिर्फ चार पत्थर फेक था ।

अमन एक होटल ठहरा था और सो रहा था. तभी दरवाजे पर दस्तक हुई. उसने अपना कम्बल हटाया और चप्पल पहन कर दरवाजा खोला तो एक अजनबी बहार खड़ा था. उस अजनबी ने बोला - क्षमा कीजिये! मुझे लगा यह मेरा कमरा है, वह थोड़ा आगे बढ़ा और फिर सीढ़ियों से नीचे जाने लगा, अमन ने तुरंत रिसेप्शन में कॉल कर के उस व्यक्ति को पकड़ने के लिए बोला, ऐसा क्यों किया उसने ?

Ans:- यदि आप अपने कमरे में जाते हैं तो आपके पास आपके कमरे की चाबी रहती और आप दस्तक नहीं देते.

एक जापानी जहाज़ अरब सागर की तरफ बढ़ रहा था, मौसम साफ़ था और लक्ष्य तक पहुचने में एक दिन और लगते. कप्तान को नहाने की इच्छा हुई, उसने अपनी रोलेक्स की घडी और सोने की चेन को उतारी और नहाने के लिए बाथरूम में चला गया. लेकिन, जब वह बाथरूम से वापस आया तो उसकी चेन और घडी दोनों गायब थीं, उसने जहाज के बाकी सदस्यों से पूछताछ के लिए बुलाया की पिछले पंद्रह मिनट में वे कहाँ थे, कुक : मैं फ्रीज से मीट निकल कर उसे पकाने की तयारी कर रहा था, इंजीनियर (अपने औजार और कैप के साथ) : सर, मैं जनरेटर के इंजन पर काम कर रहा था, रेडियो अफसर : मैं कंट्रोल रूम रेडियो सिग्नल दे रहा था, नाविक : सर, मैं झंडा ठीक कर रहा था, किसी ने गलती से उल्टा लगा दिया था, सह-कप्तान : सर, थोड़ी आँख लगा गयी थी, कप्तान को समझ आगया कि कौन झूठ बोल रहा था. क्या आपको पता चला ?

Ans:- नाविक झूठ बोल रहा था, जापानी जहाज पर जापान का झंडा होगा और जापान का झंडा उल्टा-सीधा एक सामान होता है ।

पति-पत्नी मनाली घूमने के लिए गये. दो दिन बाद सिर्फ पति वापस आया. उसने पुलिस को अपनी पत्नी के पानी में बह जाने से मृत्यु की रिपोर्ट लिखाई, अगले दिन इंस्पेक्टर राघव पति को पत्नी को मारने के इलज़ाम में गिरफ्तार कर लिया, पुलिस ने बताया कि ट्रेवल एजेंट से सच बात पता चली, इंस्पेक्टर राघव को पता चल गया, क्या आपको सुराग मिला ? 

Ans:- उसने जाने के लिए दो टिकट बुक कराये थे और वापस आने के एक टिकट बुक कराये थे. 

इंस्पेक्टर राघव जब क्राइम सीन पर पहुंचे है तो वहां एक बहुमंजिली इमारत के सामने एक व्यक्ति की लाश पड़ी थी, इंस्पेक्टर राघव पहले फ्लोर पर खिड़की खोल कर अपने टीम को देखा और उसने यही हर फ्लोर पर जा कर किया, फिर वह लिफ्ट से नीचे आया और अपने टीम से बोला की इसका मर्डर हुआ है, इंस्पेक्टर राघव को तो अंदाज़ा लग गया. क्या आपको कोई सुराग मिला ?

Ans:- कोई व्यक्ति यदि आत्म-हत्या करेगा तो खिड़की नहीं बंद कर सकेगा. इंस्पेक्टर राघव ने सभी फ्लोर पर जा कर खिड़की खोली थी 

जब इंस्पेक्टर राघव क्राइम सीन पर पंहुचा तो वहां एक व्यक्ति औंधे मुह गिरा था और उसके सर पर गोली लगी थी. उसके आस पास एक मोबाइल, रिवाल्वर, एक टेप रिकॉर्डर और एक छड़ी पड़ी हुई थी, इंस्पेक्टर राघव ने अपने सहकर्मी सावंत से जब टेप रिकॉर्डर को चलाने के लिए बोला, जब सावंत ने टेप रिकॉर्डर को चलाया तो उसमें से आवाज़ आई - मैं अपने मर्ज़ी से आत्म-हत्या कर रहा हूँ, इसमें किसी का कोई हाथ नहीं है. इसके बाद गोली चलने की आवाज़ आती है, इंस्पेक्टर राघव तो समझ गए कि उसका मर्डर हुआ है, क्या आप कुछ समझ पाए?", "

Ans:- जब सावंत ने टेप रिकॉर्डर चलाया तो वह पहले से रिवाइंड किया हुआ था, यदि इसे गोली लगी थी तो टेप-रिकॉर्डर को किसी ने तो रिवाइंड किया था ।

एक बूढा व्यक्ति अपने फ्लैट में अकेले रहता है. बुढ़ापे के कारण उसे चलने फिरने में काफी दिक्कत होती थी, इसलिए ज्यादा से ज्यादा घर के सामान उसे घर पर ही पंहुचा दिया जाता था, शुक्रवार को जब पोस्टमैन एक पत्र देने आया तो उसे कुछ संदेह हुआ, उसने की-होल से देखने की कोशिश की तो उसे उस व्यक्ति को खून से लतफत फर्श पर पड़ा था, जब इंस्पेक्टर राघव क्राइम सीन पर पंहुचा तो उसे वहां तीन दूध की बोतलें और एक अखबार पड़ा था, फॉरेंसिक एक्सपर्ट ने बताया कि इस व्यक्ति को मंगलवार को मारा गया था, उस वृद्ध से कोई मिलने नहीं आया तो उसे किसने मारा था ?

Ans:- : पेपर वाले ने, वह मंगलवार को आया था और बुद्धवार, वृहस्पतिवार और शुक्रवार को नहीं आया क्यों कि उसे पता था की उस वृद्ध को मारा जा चुका है.

इंस्पेक्टर राघव को एक मर्डर-मिस्ट्री हल करने के लिए बुलाया गया. एक महिला की लाश एक सूनसान से इलाके में पड़ी थी. उसके बैग में एक डायरी मिली जिसमें उसके पति का फोन-नंबर मिला, सब-इंस्पेक्टर सावंत उस नंबर पर कॉल करने वाली थी कि इंस्पेक्टर राघव ने उन्हें रोका और खुद कॉल किया, इंस्पेक्टर राघव ने उसे बोला कि तुम्हारी पत्नी को मार दिया गया है तो वह चिल्लाया की ऐसा हो ही नहीं सकता और वह रोने लगा. इंस्पेक्टर राघव ने बोला की आप जल्दी से आ जाइए और फ़ोन काट दिया, जैसे ही उसका पति वहां पहुंचा, इंस्पेक्टर राघव बोले - सावंत, गिरफ्तार कर लो इसे, तो इंस्पेक्टर राघव को कैसे पता चला ?

Ans:- उस महिला को एक सूनसान जगह पर पाया गया था तो जब इंस्पेक्टर राघव ने उसे पता नहीं बताया तो भी वह कैसे पहुंच गया ।

एक बदमाश प्लेन को हाइजैक करता है जिसमें ढेर सारा सोना था, उसने सारा सोना लूट लिया और ग्यारह पैराशूट की मांग की, प्लेन के लोगों ने उसे सभी सोना और ग्यारह पैराशूट दे दिया, चूंकि सभी यात्रियों ने उसे देख लिया था उसने सबको मार दिया और पैराशूट से नीचे कूद गया, सवाल यह है कि उसने ग्यारह पैराशूट की मांग क्यों की ?

Ans:- वह जानता था कि यदि वह पैराशूट मांगता तो प्लेन के कर्मी उसे ख़राब पैराशूट दे देते. वह ग्यारह इस लिए माँगा ताकि प्लेन के कर्मी यह सोचें कि वह किसी को बंधक बना कर नीचे कूदेगा और इसलिए वे कभी ख़राब पैराशूट नहीं देंगे ।

बीरबल अपने हाजिरजवाबी और अक्लमंदी के लिए जाने जाते थे तभी तो शहंशाह अकबर ने उन्हें अपने नव-रत्नों में शामिल किया था. यह बात उस समय के सभी राजाओं तक पहुंच गयी और वे लोग बीरबल को अपने यहाँ आने का निमंत्रण देते थे, एक बार ऐसे ही उन्हें निमंत्रण आया, वहां पहुचने के बाद उनको पूरे सम्मान के साथ राज-प्रसाद में ले जाया गया. जब वे राज-दरबार में गए तो वहां नौ लोग राजा की वेश-भूषा के साथ बैठे थे, सभी एक जैसे वस्त्र और आभूषण वाले थे. फिर भी बीरबल असली राजा को पहचान गए. क्या आप अंदाजा लगा सकते हैं कि बीरबल ने क्या किया ?

Ans:- बीरबल से जब पूछा गया की वो कैसे पता किये, तो उन्होंने बोला - महाराज, बाकि सभी नकली लोग आप को गौर से देखकर आपकी नक़ल कर रहे थे, जबकि आप शांत थे और शान से बैठे थे, इसी से मैं समझ गया कि आप राजा हैं ।

दो दोस्त एक हॉल में एक दूसरे की तरफ चेहरा कर के खड़े हैं. पहला दोस्त उसके भाग्य को बताता है कि अगले पांच मिनट में तुम्हारे पीठ पर कोई छुरा भोंकने वाला है. उस हॉल में और कोई नहीं है. फिर भी जब सामने घडी में जब पांच मिनट बीते उसके पीठ पर छुरा लगा था. 
बताइये कैसे ?

Ans:- वह पांच मिनट तक इन्तेजार किया और जैसे ही पांच मिनट हुए उसने खुनी को रोकने के लिए पीछे पलटा और उसके दोस्त ने पीठ पर छूरा मार दिया ।

दुर्जन सिंह ने अपनी पत्नी को पुलिस अफसरों और ढेर सारे लोगों के सामने सरेआम मार दिया फिर भी उसे किसी ने नहीं पकड़ा और उसे कोई सजा नहीं हुई. 
आखिर क्यों ?

Ans:- दुर्जन सिंह जल्लाद था और उसकी पत्नी को फांसी की सजा दी गयी थी, इसलिए तमाम पुलिस अधिकारी के सामने वह अपना कर्त्तव्य का निर्वाह कर रहा था. कर्त्तव्य से बढ़ कर कुछ भी नहीं होता.

तीन दोस्तों ने मरुस्थल में छुट्टियां मानाने की योजना बनाई. अमन, आकाश और दीपक वैसे तो गहरे दोस्त थे लेकिन आपस में मनमुटाव बहुत बढ़ गए थे. अमन तो दीपक को बिलकुल पसंद नहीं करता था वहीँ आकाश भी दीपक को घृणा करता था, वे मरुस्थल में एक सूनसान गेस्ट हाउस में गए जहाँ कोई नहीं था, उस गेस्ट हाउस के देखभाल करने वाले भी उस जगह को छोड़ कर चले जाते थे, अमन ने दीपक के कमरे की टंकी में जहर मिला दिया ताकि वो जैसे ही पानी पिए, जहर से उसकी मृत्यु हो जाए, आकाश भी उसको मारने की योजना बनाया और उसने उसके कमरे का पानी ही काट दिया. बिना पानी के दीपक मर गया, इस केस में असली हत्यारा कौन था ?

Ans:- वैसे तो गुनहगार दोनों थे. लेकिन असली हत्यारा वही होता है जिससे किसी की जान गयी हो. इसलिए उसका क़त्ल आकाश ने किया है ।

इंस्पेक्टर राघव के सामने एक अजीब केस आया. एक धनवान व्यक्ति का बेटा रहस्यमय परिस्थिति में अपने कमरे के पंखे पर लटकता पाया गया, कमरा अंदर से बंद था और कोई खिड़की भी नहीं थी. वह कमरा पूरी तरह से खाली था और कोई फर्नीचर भी नहीं था, कमरे में चारों तरफ पानी फैला था, तो उसने कैसे आत्महत्या की. कम से कम कोई तो साधन चाहिए फैन तक चढ़ने और हटाने के लिए, इंस्पेक्टर राघव ने तुरंत इसको हल कर दिया आप हल कर सकेंगे ?

Ans:- उसने बर्फ की सिल्लियों का उपयोग किया ।

शिवराम जी एक बहुत बड़े संत थे. वैसे तो सांसारिक मोह-माया से उनका कोई लेना-देना नहीं था फिर भी उनके पास राजाओं ने बहुत से जमीन, जायदाद और पैसे उपहार दिए थे, पहुंचे हुए संत थे और उनके घर में कोई नहीं था और उनके कोई संतान भी नहीं थी. कुल मिला जुलकर एक सेवक था भोला जो बचपन से ही काम कर रहा था और शिवराम जी का पूरा ख्याल रखता, जब शिवराम जी बूढ़े हो गए तो उन्होंने भोला को, बुलाकर एक वरदान मांगने को बोला, उनका इतना प्रताप था की वो सबकी मनोकामना पूरी कर देते थे, भोला जब अपनी माँ के पास गया जो अंधी थी वह बोली कि वह जीते जी उसके संतान को देखना चाहती है, भोला जब अपनी पत्नी के पास गया तो वह उससे पुत्र की मनोकामना के लिए कही, भोला जब अपने पिता के पास गया तो उन्होंने ढेर सारे पैसे मांगने के लिए बोले, भोला क्या मांगे कि उसके पिता, माता और पत्नी की इच्छा पूरी हो जाय ?

Ans:- वह मांगे कि उसकी माँ उसके पोते को सोने के झूले में झूलते देखना चाहती है ।

100 लोग एक लाइन में खड़े हैं, नंबर 1 से नंबर 100 तक, नंबर 1 के पास एक तलवार हैं , वो अपने से अगले (नंबर 2) को मारकर तलवार को उसके अगले (नंबर 3) को दे देता हैं , इसी प्रकार सभी लोग अपने से अगले आदमी को मारकर उसके अगले आदमी को तलवार दे देते हैं, (नंबर 3 नंबर 4 को मारकर तलवार नंबर 5 को दे देता हैं और इसी प्रकार चक्र चलता हैं) अगर ऐसे ही चलता रहे और बचे हुए लोगो के बीच में ये चक्र दोहराया जाए, जब तक की सिर्फ़ एक आदमी शेष बचे तो कौन से नंबर का आदमी अंत में अकेला बचेगा ?

Ans:- नंबर 73, पहले चक्र में सभी सम संख्या वाले (नंबर 2, नंबर 4 .. आदि) मारे जाएँगे और नंबर 99 अपने अगले नंबर 100 को मारकर तलवार वापस नंबर 1 को दे देगा, दूसरे चक्र में नंबर 1 नंबर 3 को मारकर नंबर पाँच को तलवार देगा , इस प्रकार नंबर 1 और सभी चौथे स्थान पर खड़े शेष बचेंगे 1, 5, 9, 13, 17, ... 93, 97 . और नंबर 97 नंबर 99 को मारकर तलवार वापस नंबर 1 को दे देगा, तीसरे चक्र में नंबर 1 और सभी आठवे स्थान पर खड़े शेष बचेंगे - 1, 9, 17, ... 89 , 97 . और अंत में नंबर 97 नंबर 1 को मारकर तलवार नंबर 9 को दे देगा, चौथे चक्र में नंबर 9 और उसके सोलहवे स्थान पर खड़े लोग बचेंगे - 9, 25 , 41 , 57, 73, 89 ... और अंत में 89 नंबर 97 को मारकर तलवार नंबर 9 को दे देगा, पाँचवे चक्र में - 9 , 41 और 73 बचेंगे - अंत में नंबर 73 नंबर 89 को मारकर तलवार नंबर 9 को दे देगा, छठे चक्र में नंबर 9 नंबर 41 को मारकर तलवार नंबर 73 को देगा और बचे 73 और 9, और नंबर 73 नंबर 9 को मारकर शेष बचेगा ।

अकबर बादशाह ने एक दरबारी से नाराज़ होकर उसे सजा सुनाई कि उसको कोई एक बात बोलनी है. अगर वो बात सच है तो उसे भूखे शेर के पिंजरे में डाल दिया जायेगा, अगर वो बात झूठ है तो उसे भूखे मगरमच्छ के तालाब में फेंक दिया जाएगा, इससे यह बात जाहिर है की उसकी मौत दोनों स्थिति में तय है. दरबारी परेशान होकर बीरबल के पास जाकर सलाह मांगता है, बीरबल उसे एक सलाह देता है जिससे उसके जान बच गयी, बीरबल ने उसे क्या बोलने के लिए कहा ?

Ans:- बीलबल के सलाह पर उस दरबारी ने कहा - मेरी मौत मगरमच्छ के खाए जाने से होगी, अगर उसकी बात सही है तो उसको शेर के पिंजरे में डालना चाहिए, ऐसा होगा तो उसकी मौत शेर के खाने से होगी जोकि गलत होगा, तब उसे मगरमच्छ के तालाब में डालना चाहिए, अगर मगरमच्छ के तालाब में डालें तो उसकी बात सही हो जाएगी, इस प्रकार, यह एक पैराडॉक्स है और किसी भी स्थिति में उसे सजा नहीं दी जा सकती ।

इंस्पेक्टर राघव उस होटल में पहुँचता है जहाँ एक होटल रिसेप्शनिस्ट को गोली लगी थी, रेसेप्टिनिस्ट ने बताया - इंस्पेक्टर साहब, मैं तो बस मारा ही गया था, उसने मेरे ऊपर गोली चलाई लेकिन वह मेरे बांए कंधे को छू कर निकल गयी, इंस्पेक्टर ने उसके लहूलुहान कंधे को देखा, वहां से खून निकल रहा था और घाव ताज़ा था, इंस्पेक्टर राघव ने उस जगह का मुआयना किया और रिसेप्शन के पीछे के दर्पण की दीवाल को देखा जिसमे से सब कुछ साफ़ दीखता था और बोला - आप से भूल हो गयी है और आपने सुराग छोड़ दिया है, तुम झूठ बोल रहे हो या कुछ छिपा रहा हो. सावंत, इसे गिरफ्तार कर लो, इंस्पेक्टर राघव ने ऐसा क्यों कहा? कहीं इंस्पेक्टर राघव तो कुछ भूल नहीं कर रहे हैं ?

Ans:- अगर गोली कंधे को छू कर निकल गयी तो पीछे दर्पण की दीवाल पर लगती और वह टूट जाता.

एक लोहे की फैक्ट्री में वहां के मालिक के तिजोरी से 10 लाख रुपये चोरी हो गये. तिजोरी वाले कमरे से बगल में एक ही कर्मचारी विजय कार्य कर रहा था, इसलिए उसे पकड़ लिया गया, जब इंस्पेक्टर राघव पूछ-ताछ के लिए उसे बुलाये तो उससे पूछा - क्या करते हो तुम? विजय : सर, मैं गाड़ियों के लिए लोहे की शीट को काटता हूँ. एक शीट में 179 टुकड़े होते हैं, इंस्पेक्टर राघव : उस दिन तुम अपनी पूरी दिनचर्या बताओ? विजय : सर, मैं 5:00 AM पर काम पर आया. दोपहर तक काम किया और लंच के लिए चला गया. लंच से मैं 1:00 बजे आया और फिर तीन घंटे तक काम किया और एक मिनट में एक टुकड़े कटते हैं और मैंने पूरे 179 टुकड़े काटे, ठीक 3:59 पम पर मैं उठा और एक मिनट में घर जाने के लिए तैयार हो गया. सबने मुझे देखा था सर. अब एक मिनट में तो मैं कुछ नहीं कर सकता, इंस्पेक्टर राघव : एक मिनट में एक टुकड़ा यानी एक घंटे में 60 टुकड़े और दो घंटे 59 मिनट में 179 टुकड़े. यानी तुमने ही चोरी की है? विजय : कैसे साहब, इंस्पेक्टर राघव : अबे, पुलिस से जबान लड़ता, हम डंडे भी चलते हैं और दिमाग भी, इंस्पेक्टर राघव इतना निश्चित कैसे हुए कि वही चोर था, क्या आप सोच सकते हैं ?

Ans:- एक शीट में 179 टुकड़े निकल सकते हैं, यानि जब वह 178 वां शीट काटेगा तो आखरी शीट अपने आप बिना कटे बचेगी. इसलिए उसके पास पूरे दो मिनट थे चोरी करने के लिए. 

जब इंस्पेक्टर राघव पहुंचे, वहां एक व्यक्ति कार के नीचे मारा पड़ा था, थोड़ी तफ्तीश से पता चला कि वह गाडी का मालिक नहीं था और वही आखरी व्यक्ति था जिसने उस गाडी को चलाई थी, कार को सुबह चलाया गया था लेकिन फॉरेंसिक रिपोर्ट से उसकी मौत 3:00 PM पर हुई थी. उस कार का मालिक तो शहर में था ही नहीं और काम के सिलसिले में रायपुर गया हुआ था, इंस्पेक्टर राघव को बाद में इस घटना में यह पता चला कि इसमें किसी का हाथ नहीं था, इंस्पेक्टर राघव को तो सच पता चल गई, क्या आप को कुछ अंदाज़ लगा ?

Ans:- वह मैकेनिक था. गाडी को ठीक करने वह नीच लेट कर काम कर रहा था, लेकिन जैक ठीक से नहीं लगा था और गाडी उसके ऊपर आ गई, जिससे उसकी मौत हो गई ।